राजनांदगांव |  मेहनतकश किसानों के चेहरे बयां कर रहे हैं, उनकी उन्नति और खुशी। कोविड-19 के कारण लॉकडाउन के समय विपत्ति के इस घड़ी में किसान परेशान हो रहे थे। ऐसे समय में सरकार उनके हर सुख-दुख की सहभागी बनी और उन्हें मदद पहुंचाई। राजीव गांधी किसान न्याय योजना से किसानों को ऐसे समय में राहत मिली।
ग्राम सोमनी के ठाकुरटोला के किसान श्री लतखोर निर्मलकर ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की सरकार शिद्दत से किसानों के हित में कार्य कर रही है और किसानों के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने बताया कि मुझे इस योजना के तहत 20 हजार 550 रूपए की राशि मिलेगी। जिसमें से अभी मुझे 5 हजार 394 रूपए की राशि प्राप्त हो गई है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के इस कठिन समय में यह राशि मेरे लिए महत्वपूर्ण है और इस राशि से बारिश से पहले खेती-किसानी के लिए तैयारी कर सकूंगा। ग्राम अर्जुनी के किसान श्री लेखूराम देवांगन ने कहा कि लॉकडाउन में बड़ी राहत मिली और यह राशि हमें सही समय पर मिली है। उन्होंने बताया कि राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत 34 हजार 122 रूपए की सहायता राशि मिलेगी। जिसमें से 8 हजार 957 रूपए प्राप्त हो गए है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को इस मदद के लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि किसानों से जुड़ी लाभकारी योजनाओं से हम सब के जीवन में बदलाव आया है।
छत्तीसगढ़ सरकार किसानों को उनकी उपज का सही दाम दिलाने के लिए राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के किसान लाभान्वित हुए है। राज्य सरकार इस योजना के तहत किसानों को खेती किसानी के लिए प्रोत्साहित करने के लिए खरीफ 2019 से धान तथा मक्का लगाने वाले किसानों को सहकारी समिति के माध्यम से उपार्जित मात्रा के आधार पर अधिकतम 10 हजार रूपए प्रति एकड़ की दर से अनुपातिक रूप से सहायता राशि दी जाएगी।