मुंगेली. कोरोना वायरस (Corona Virus) से एहतियात के तौर पर पूरे मुंगेली (Mungeli) जिले को लॉकडाउन (Lockdown) कर दिया गया है. ऐसे में लोगों को कुछ परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है. लोगों की इन परेशानियों को कम करने ऐसे बहुत से समाजसेवी संस्था और युवक सामने आ रहे है जो नियम-कायदों को ध्यान में रखते हुए जरूरतमंदों का सहयोग कर रहे है. मुंगेली की संस्था प्रयास, लोरमी की मानव सेवा समिति, मुक्तिधाम सेवा समिति, राजपूत युवा मंच जैसे कई संस्था है जो लोगों की मदद के लिए आगे आ रहे है. ये भूखे और जरूरतमंद लोगों को भोजन और दूध की व्यवस्था करा रहे है.इन संस्थाओं को आम लोगों का सहयोग भी मिल रहा है. अलग-अलग संस्था रोजाना 700 से अधिक लोगों का भोजन उनके घर तक पहुंचा रहे हैं. लोगों को राशन सामग्री भी दी जा रही है. प्रयास संस्था वनांचल में बैगा आदिवासियों के लिए भी राशन सामग्री पहुंचा रही है जिससे किसी को भोजन की कमी न हो. भोजन राशन उपलब्ध कराने के साथ ही लोरमी के सर्वदलीय मंच के युवा प्रशासन के सहयोग में भी आगे आए है और सड़क से लकर अस्पताल तक अपनी सेवाएं दे रहे है.


ऐसे कर रहे लोगों की मदद
लोरमी में सौ से अधिक लोगों को सिविल वालंटियर का पास जारी किया गया है. वालंटियर्स के नंबर लोगों को दिए गए है ताकि लोग कॉल कर जरूरत का सामान अपने घर मंगवा सके जिससे सड़कों पर भीड़ कंट्रोल किया जा सके. गांव के युवा भी लोगों को अपने इलाके से बाहर जाने से रोक रहे है और घर पर रहने की अपील कर रहे हैं.

कोरोना योद्धाओं की तारीफ जिले के कलेक्टर डॉ.सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने भी की है. कलेक्टर ने कहा कि

सेवाभावी संस्थाओं का महत्वपूर्ण रोल रहता है. इतने बड़े आपदा से अकेले प्रशासन नहीं निपट सकता. सबको मिलकर इससे उभरना है. डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने बताया कि मुंगेली जिले में जिस तरह सामाजिक संस्थाएं गरीब जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए सामने आई है ये वाकई काबिले तारीफ है.