• वचन पत्र में नहीं थी कोई शर्त फिर सरकार बनने के बाद किसानों को धोखा क्यों दिया : चौहान
  • सांवेर की वर्चुअल रैली में मुख्यमंत्री श्री चौहान, राष्ट्रीय महासचिव विजयवर्गीय ने किया संबोधित

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने आज कांग्रेस की कमलनाथ सरकार द्वारा कर्जमाफी के नाम पर किसानों के साथ की गयी धोखाधड़ी को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से तीन तीखे सवाल किए है। पहला क्या आपने सभी किसानों का 2 लाख रूपए तक का कर्जमाफ करने का वादा नहीं किया था ? दूसरा क्या कर्जमाफी की कोई समय सीमा तय की गयी थी ? और तीसरा क्या आपने ऐसा कहा था कि एक बैंक का कर्जामाफ करूंगा, दूसरे का नहीं करूंगा ?शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के पहले जो वचन पत्र जारी किया था, उसमें पहला वचन था कर्जमाफी का। कांग्रेस ने कहा था कि हम हर किसान का दो लाख रुपये तक का हर तरह का कर्ज माफ करेंगे। कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष राहुल गांधी ने 10 तक गिनती गिनकर 10 दिनों में कर्जमाफ करने की बात कही थी। मैं कमलनाथ से यह पूछना चाहता हूं कि क्या कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में कर्जमाफी के लिए कोई शर्त रखी थी ? उस समय हर तरह का कर्ज माफ करने की बात थी, तो बाद में अल्पकालीन फसलीय ऋण की बात कहां से आ गई ? उस समय कर्जमाफी के लिए कोई कट ऑफ डेट नहीं थी, तो बाद में वो 31 मार्च, 2018 कैसे हो गई? कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में किसी खास बैंक के कर्ज की बात नहीं कही थी, तो फिर विशेष बैंकों की शर्त कहां से जुड़ गई? सचाई यह है कि कांग्रेस और कमलनाथ ने सरकार बनाने के लिए कर्जमाफी के नाम पर प्रदेश की जनता से झूठ बोला था, जनता को धोखा दिया था। यह बात मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने बुधवार को सांवेर विधानसभा की वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए कही। रैली को पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने भी संबोधित किया। 

 

जितना तुमने कर्ज माफ किया उतना तो हम मुआवजा देते थे
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कर्ज माफी का वादा करने वाली कांग्रेस की सरकार ने सवा साल के अपने कार्यकाल में सिर्फ छह हजार करोड़ का कर्ज माफ किया। इसके लिए भी सरकार ने सहकारी बैंकों की जान ले ली और आधा बोझ उन पर डाल दिया। इससे ज्यादा तो हमारी सरकार ने अपने कार्यकाल में किसानों को फसलों का मुआवजा दे दिया है। 

 

कमलनाथ दिग्विजय ने प्रदेश को कोरोना ग्रस्त बनाने का पाप किया है
श्री चौहान ने कहा कि मौजूदा दौर में सारी दुनिया कोरोना महामारी से परेशान है। लेकिन मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार ने कोरोना से मुकाबले के लिए कोई तैयारी नहीं की। प्रधानमंत्री बार बार चेतावनी देते रहे, लेकिन कमलनाथ के कानों पर जूं नहीं रहेंगी। उनके पास आईफा अवार्ड के लिए तो समय था लेकिन कोरोना से मुकाबले की तैयारी के लिए टाइम नहीं था। प्रदेश में कोरोना की जांच की और इलाज की कोई सुविधा या कोई तैयारी नहीं थी। श्री चौहान ने कहा कि कमलनाथ और दिग्विजय की इस जोड़ी ने प्रदेश को कोरोना से ग्रसित करने का महापाप किया है। 

 

वल्लभ भवन को बना दिया लूट का अड्डा
श्री चौहान ने कहा कि कमलनाथ सरकार ने वल्लभ भवन को लूट और दलाली का अड्डा बना दिया था। उनके पास विधायकों और मंत्रियों से मिलने का टाइम नहीं होता था लेकिन जब भी कोई बड़ा ठेकेदार आता तो उससे भी खुश होकर मिलते थे। इस काम में कमलनाथ अकेले नहीं थे बल्कि उनके साथ दिग्विजय सिंह भी थे जिन पर सरकार के ही एक मंत्री उमंग सिंगार ने ही रेत माफिया और शराब माफिया को संरक्षण देने के आरोप लगाए थे। श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस की सरकार पूरे समय प्रदेश को लूटने में लगी रही। प्रदेश का विकास अवरुद्ध कर दिया। हमारे कार्यकर्ताओं को दुर्भावनावश प्रताड़ित किया जा रहा था और विचारधारा को कुचलने का प्रयास हो रहा था। श्री चौहान ने कहा कि मैं सिंधिया जी, तुलसी सिलावट जी और उनके साथियों को बधाई देना चाहता हूं कि उन्होंने साहस दिखाते हुए इस्तीफा दिया और प्रदेश को बर्बादी से बचा लिया।

 

एक तरफ विकास है, दूसरी तरफ विनाश
श्री चौहान ने कहा कि कांग्रेस की कमलनाथ सरकार हमेशा पैसे का रोना रोती रहती थी, लेकिन हम कहते हैं पैसे की कमी नहीं है, हम कहीं से भी पैसा लाएंगे। उन्होंने कहा कि सांवेर और मध्यप्रदेश का विकास करना हमारा संकल्प है। श्री चौहान ने कहा कि इस चुनाव में एक तरफ देश और प्रदेश को लूटने वाले लोग हैं, तो दूसरी तरफ हमारे नेता मोदी जी है, जिन्होंने देश का मान बढ़ाया है। एक तरफ भाजपा है, तो दूसरी तरफ प्रदेश का बंटाढार करने वाली जोड़ी है। एक तरफ विकास है, दूसरी तरफ विनाश है। 

 

हमारी सेना के पराक्रम और मोदी जी की कूटनीति के कारण चीन पीछे हटाः कैलाश विजयवर्गीय
रैली को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि चीन कभी खुद को सुपर पावर मानता था। लेकिन आज का भारत एक नया भारत है। हमारी सेना के जवान आत्मविश्वास से भरे हुए है। बार्डर पर सेना के हमारे रणबांकुरों ने चीन को करारा जवाब दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की कूटनीति के कारण आज चीन को भी पीछे हटना पड़ा है। आज हमारे पड़ोसी देश भारत की बढ़ती शक्ति और साख से भयभीत है। 

 

प्रदेशवासियों को तसल्ली है कि उनके मुखिया शिवराज जी है
कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि जितना विश्वास देश की जनता को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी पर है उतना ही विश्वास प्रदेश की जनता को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी पर है क्योंकि उन्होंने भाजपा के 15 साल ओर शिवराज जी के सेवा और समर्पण के 13 साल भी देखे हैं, तो दूसरी तरफ कमलनाथ सरकार की हर वर्ग से की गई वादाखिलाफी के 15 माह भी देखे है। विजयवर्गीय ने कहा कि आज प्रदेश के लोगों में ये तसल्ली है कि प्रदेश के मुखिया के रूप में उनके हितैषी शिवराज सिंह चौहान हैं। 

 

झूठों को इस चुनाव में परास्त कर सबक सिखाएं
कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि यह उपचुनाव साधारण चुनाव नही है। इस चुनाव में एक तरफ़ 15 साल तक जनता की सेवा करने वाले लोग हैं, तो दूसरी तरफ़ वो लोग है जिन्होंने 15 माह प्रदेश को लूटा, किसानों को कर्ज माफी का धोखा दिया, युवाओं को बेरोजगारी भत्ते का झूठ बोला और माताओं बहनों के सेल्फ हेल्प ग्रुप्स से वादा खिलाफ़ी की। उन्होंने कहा कि ऐसे झूठों को इस चुनाव में परास्त कर सबक सिखाना है। 


यह उपचुनाव मध्यप्रदेश के प्रगति का चुनाव है : सिलावट
 वर्चुअल रैली को प्रदेश शासन के मंत्री तुलसी सिलावट ने संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में 15 महीने जनता को धोखा देने वाली सरकार थी। मैंने सांवेर की विकास योजनाओं के बारे में कमलनाथ जी से चर्चा की थी, परंतु वहां विकास को तवज्जो नहीं दी जाती थी। आज मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने सांवेर को कई सौगात दी है। नर्मदा का जल सांवेर तक पहुंचाने का भगीरथी प्रयास शिवराजजी के हाथों होगा। सांसद शंकर ललवानी ने कहा कि सांवेर में सेक्टरों की बैठक में कार्यकर्ताओं, किसानों और हर वर्ग में उत्साह है। यह उत्साह लोकसभा में मिली विजय से और अधिक वोटों के रूप में हमें मिलेगा।स्वागत भाषण जिलाध्यक्ष राजेश सोनकर एवं संचालन भोपाल जिलाध्यक्ष सुमित पचौरी ने किया। भोपाल में प्रदेश उपाध्यक्ष एवं वर्चुअल रैली के प्रभारी विजेश लुणावत, प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पाराशर, प्रदेश शासन के मंत्री भूपेन्द्र सिंह, रामकिशोर कांवरे उपस्थित थे। इसी प्रकार सांवेर से प्रदेश शासन की मंत्री एवं प्रदेश उपाध्यक्ष सुश्री उषा ठाकुर, चुनाव संचालक मधु वर्मा, सह संचालक सावन सोनकर, सह प्रभारी इकबाल सिंह गांधी, विधायक रमेश मेंदोला, महेन्द्र हार्डिया, नगर जिलाध्यक्ष गौरव रणदीवे, संभागीय संगठन मंत्री जयपाल सिंह चावड़ा रैली से जुड़े।