भोपाल : अपर मुख्य सचिव एवं प्रभारी स्टेट कंट्रोल रूम श्री आईसीपी केशरी ने जानकारी दी है कि कोरोना संक्रमण के कारण अन्य प्रदेशों में फंसे 5 लाख 23 हजार श्रमिकों को अभी तक मध्य प्रदेश लाया जा चुका है। इनमें से 3 लाख 64 हजार बसों से और एक लाख 59 हजार ट्रेनों से लाए गए हैं।

श्री केशरी ने बताया है कि अभी तक श्रमिकों को लेकर 125 ट्रेन आ चुकी हैं।  सोमवार को 4 ट्रेन आएंगी। अन्य प्रदेशों के लगभग 4 लाख श्रमिकों को अब तक बसों से अन्य प्रदेशों की सीमा तक पहुंचाया जा चुका है।

श्रमिकों को क्वारेंटाइन सुविधा के साथ जॉब कार्ड भी

प्रदेश में अन्य राज्यों से प्रवासी श्रमिकों की वापसी का क्रम लगातार जारी है। स्थानीय प्रशासन द्वारा श्रमिकों के स्वास्थ्य परीक्षण के साथ आवश्यक होने पर क्वारेंटाइन की व्यवस्था भी की जा रही है। उमरिया जिले की जनपद पाली में बनाये गये संस्थागत क्वारेंटाइन सेंटर में हैदराबाद से आये 5 श्रमिकों को क्वारेंटाइन अवधि पूरी होने के पश्चात घर जाने की अनुमति दी गई। घर रवाना होने के पूर्व इन श्रमिकों की रोजगार व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिये मनरेगा योजनान्तर्गत तीन श्रमिकों को जॉब कार्ड बनाकर दिये गये। अन्य दो श्रमिकों के जॉब कार्ड बनाने की कार्यवाही संबंधित ग्राम पंचायत द्वारा की जा रही है। कोरोना संकट से बचाव और जॉब कार्ड मिलने से श्रमिकों में एक नया उत्साह जागा।